E Accounting course in Hindi

इ-एकाउंटिंग कोर्स क्या है ? What is E Accounting know in Hindi ?

इ-एकाउंटिंग कोर्स के है ?


Accounting में जितना विज्ञान है उतना ही कला भी। ये पैसों के लेनदेन को रिकॉर्ड करता है, वर्गीकृत यानि क्लासिफ़ाइ करते है, और उनके सारांश तैयार करके उनको इस प्रकार प्रस्तुत करते है, जिससे उनका विश्लेषण होता है |

ई-अकाउंटिंग दो शब्दों ई और एकाउंटिंग से मिलकर बना है। E का मतलब इलेक्ट्रॉनिक होता है जिसमें हर रिकॉर्ड इलेक्ट्रॉनिक रूप में होता है न कि कागज पर। वर्तमान समय में दैनिक जीवन में छोटे और बड़े पैमाने के प्रत्येक व्यावसायिक संगठन में ई-अकाउंटिंग एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस इलेक्ट्रॉनिक लेखा प्रणाली में स्रोत दस्तावेज और एकाउंटिंग रिकॉर्ड कागज के बजाय डिजिटल रूप में मौजूद होते हैं यानि की कंप्यूटर में फीड होते है । यह व्यवसाय लेखांकन (एकाउंटिंग) कार्य के लिए ऑनलाइन और इंटरनेट प्रौद्योगिकियों का एक तरीका है। ई-अकाउंटिंग कोर्स एकाउंटिंग के क्षेत्र में नया विकास है।

व्यापार में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के इस युग में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है ताकि संगठनों के भीतर और उनके बीच डेटा और सूचना के आदान-प्रदान का समर्थन किया जा सके। इस अवधारणा को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चुना गया है। बड़ी संख्या में ऐसी कंपनियां हैं जिन्होंने एक प्रशिक्षण कार्यक्रम के रूप में ई-अकाउंटिंग शुरू की है। एटिट्यूड टैली अकादमी उन छात्रों और पेशेवरों को यमुना विहार, उत्तम नगर और दिल्ली एनसीआर में ई-लेखा पाठ्यक्रम प्रदान करती है जो कागज पर लेनदेन रिकॉर्ड करने के अपने बोझ को कम करना चाहते हैं। पाठ्यक्रम – प्रमाणित ई-खाता पेशेवर [अवधि: 6 महीने] पाठ्यक्रम में शामिल हैं

कक्षा प्रशिक्षण प्रोग्राम

  • 100% व्यावहारिक प्रशिक्षण
  • पाठ्यक्रम को कवर करने के लिए व्यावहारिक वीडियो
  •  असाइनमेंट के साथ पू
  • ऑनलाइन ऑफलाइन आकलन
  • 100% नौकरी सहायता
  • सभी डिवाइस पर पहुंच
  • २४*७ लाइफटाइम एक्सेस
  • टैली अधिकृत प्रमाणपत्र

संस्थान स्थान का चयन करें

आजकल सभी संस्थान और संगठन ई-अकाउंटिंग के पक्ष में हैं। बैंक समाधान, प्रबंधन सूचना प्रणाली (एमआईएस), नकद प्रबंधन, देय खाते, प्राप्य खाते, पेरोल और क्रेडिट प्रबंधन, वित्तीय विवरण से संबंधित सभी प्रमुख लेखांकन पूरी तरह से ऑनलाइन हैं। चूंकि भारत एक विकासशील और कृषि प्रधान देश है इसलिए ग्रामीण क्षेत्रों में इस अवधारणा तक पहुंचने में कुछ समय लगता है। लेकिन दिन-प्रतिदिन ग्रामीण लोग भी अपने समग्र विकास के लिए नई इंटरनेट तकनीकों को सीखने और उपयोग करने में रुचि रखते हैं। आजकल अधिकांश बैंकिंग लेनदेन, रेलवे टिकट बुकिंग और जीवन के लगभग हर क्षेत्र में शायद ही कोई ऐसा क्षेत्र हो जो इंटरनेट पर उपलब्ध न हो।

ई-एकाउंटिंग पाठ्यक्रम और कक्षाओं में विभिन्न कंप्यूटर आधारित एकाउंटिंग उपकरणों जैसे: डिजिटल उपकरण किट, अंतर्राष्ट्रीय वेब-आधारित सामग्री, संस्थान और कंपनी डेटाबेस जो वेब लिंक, इंटरनेट हैं, के माध्यम से नियमित एकाउंटिंग , एकाउंटिंग अनुसंधान और एकाउंटिंग प्रशिक्षण और शिक्षा शामिल है। आधारित एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर और इलेक्ट्रॉनिक वित्तीय स्प्रेडशीट उपकरण।

ई-अकाउंटिंग प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के उपरोक्त उन सभी महत्वपूर्ण पहलू पर ध्यान दिया जाता है जो छात्रों और पेशेवरों के जीवन में वास्तव में फायदेमंद हैं जो अपने वित्तीय लेनदेन को बचाने या कुछ भी महत्वपूर्ण बुकिंग करने के लिए कंप्यूटर के साथ काम कर रहे हैं। यह पाठ्यक्रम वास्तव में प्रत्येक आयु वर्ग के व्यक्ति के लिए उपयोगी हो सकता है क्योंकि यह पेशेवर और घरेलू जीवन दोनों में उपयोगी है, विस्टा अकादमी टैली अकादमी उन्हें ई-अकाउंटिंग का व्यावहारिक और सर्वोत्तम प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए योग्य प्रशिक्षकों के तहत ई-अकाउंटिंग में एक कोर्स प्रदान करती है। आओ और एविस्टा अकादमी में शामिल हों जो ई-अकाउंटिंग करियर में परिपूर्ण होने के लिए देहरादून में 100% जॉब ओरिएंटेड ई-अकाउंटिंग डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स प्रदान करता है।

नौकरी की नहीं होगी कमी :

E-Accounting में नौकरियों की कोई कमी नहीं है। बस कोर्स करने और डिप्लोमा लेने के लिए आपको इंस्टिट्यूट ज्वाइन करना है । E-Accounting एक अच्छा करियर विकल्प है। आजकल युवाओ में बहुत प्रचलित है। हर कंपनी को एक न एक अकाउंटेंट की जरुरत है। अगर आप इसमें परफेक्ट हो जाएंगे तो आपकी इसमें आप एक बढ़िया प्रोफेशनल अकाउंटेंट बन सकते है।

E -Accounting ई-अकाउंटिंग कोर्स करने के बाद मुझे कौन सी नौकरी मिलती है?

कोर्स ई-अकाउंटिंग कोर्स करने के बाद मुझे कौन सी नौकरी मिलती है?

  • एडमिन एग्जीक्यूटिव
  • एकाउंट्स
  • एग्जीक्यूटिव
  • ऑडिट एग्जीक्यूटिव
  • फाइनेंसियल
  • नलयलिस्ट
  • एकाउंट्स मैनेजर
  • सीनियर मैनेजर
  • परचेस मैनेजर

ई अकाउंटिंग कौन सीख सकता है? क्या कोई पात्रता मानदंड है?

यह देखते हुए कि यह एक कंप्यूटर अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है, इन दोनों क्षेत्रों (कंप्यूटर और अकाउंटिंग) के बारे में एक बुनियादी ज्ञान कीजरुरत की जाती है। कोई भी व्यक्ति जिसने 12वीं पास कर ली है वह इस कोर्स के कर सकता है।

एकाउंटिंग कोर्स in hindi

Computer accounting में करियर

Computer accounting यह एक ऐसा करियर विकल्प है, जहां जॉब की हमेशा डिमांड बनी रहती है। आज अगर देखा जाये तो छोटे ऑफिस या कोई बड़ी कंपनी सभी में accounting प्रोफेशनल का काम कम्प्यूटर पर ही होता है।
सभी जगह computer accounting system बने हुए हैं। शायद ही कही मैनुअली लेखांकन होता हो। एक बात और है कि इनकी जरूरत सब जगह पड़ती है, चाहे वह छोटी फर्म हो या बड़ी। लेखा – जोखा तो सब जगह रखा जाता है। अगर आप इस लाइन में करियर बनाना चाहते हैं तो आप इसका कोर्स करके जॉब पा सकते हैं।कंप्यूटर एकाउंटिंग इसलिए भी जरूरी है क्यकि जो भी टैक्स अनुपालन है वहो सभी ऑनलाइन है और बिना कंप्यूटर के आप इनको फाइल नहीं कर सकते है |

Computer accounting course eligibility

ये कोर्स करने के लिए कोई बेसिक एजुकेशन की जरूरत नही होती है। इसके लिए कैंडिडेट 12वीं किसी भी स्ट्रीम से पास होना आवश्यक है। अगर आपने 12वीं कॉमर्स सब्जेक्ट से की है तो ये एक बहुत ही अच्छी बात है। क्योंकि अधिकतर अकाउंटेंट कॉमर्स से पढ़े होते हैं और वाणिज्य में एकाउंटेंसी के बारे में ही सिखाया जाता है।

कहा से करे

अगर आपको इस कोर्स में एडवांस एकाउंटिंग ,टैक्सेशन का ज्ञान नहीं है तो जॉब तो मिल जाएगी पर  आगे प्रमोशन में दिक्कत आएगी |

इस कोर्स में एडवांस एकाउंटिंग एजुकेशन की जरूरत होती है जो की जितना एडवांस हो अच्छा है नहीं तो आप जूनियर अकाउंटेंट ही रहेंगे

इसलिए अच्छे इंस्टिट्यूट का चयन करे या खुद सीखे

10 common NumPy functions that are useful for data analysis: 10 common use cases for SQL in data analytics 10 commonly used Matplotlib commands for data analytics 10 different between SQL and No SQL 10 steps that show how data analytics is changing the banking industry: 10 steps to learn SQL for Data Analytics 10 steps to start career in data science 10 ways data analytics can be used in addressing climate change: 10 ways data analytics is changing healthcare 10 ways in which data analytics could change the pharmaceutical industry